दोस्तों क्या आप भी हो जानना चाहते हैं कि भारत का सबसे पुराना बैंक कौन सा है।

जैसे-जैसे मुद्रा का प्रचलन तेजी से बढ़ता गया।  उसके लिए बैंक स्थापित होने लगे।  प्राचीन काल में साहू कर बैंकर के रूप में काम करता था, लेकिन धीरे-धीरे परिस्थितियां बदलने लगी। साहूकार की जगह बैंक ने ले ली। 1600 में  इंग्लैंड में औद्योगिकरण की शुरुआत हो गई थी।  इससे पहले ही दुनिया का पहला बैंक  इटली में स्थापित हो गया था,  इस बैंक का नाम banca monte dei paschi di siena hai  और यह बैंक अभी तक काम कर रहा है, दुनिया का सबसे पुराना बैंक यही है। 

भारत का सबसे पुराना बैंक कोन सा है
भारत का सबसे पुराना बैंक कोन सा है



बैंक क्या है?

बैंक एक वित्तीय संस्था है। बैंक में व्यक्ति मुद्रा रखता है और मुद्रा की निकालता है। आज विश्व के सभी देशों में बैंक  प्रणाली है।  सभी देश का अपना एक सरकारी बैंक होता है।  जूस देश की  वित्तीय व्यवस्था को देखता है।

भारत में रिजर्व बैंक  सबसे बड़ा बैंक है, और यही बैंक नोट छापने का और उसे अन्य बैंक तक वितरित करने का कार्य करता है।


भारत का सबसे पुराना बैंक कौन सा है?

भारत में कई सारे बैंकों की स्थापना हुई, लेकिन यह बैंक ज्यादा समय तक नहीं चल पाए।  भारत की सबसे पुरानी बैंक  की स्थापना 1806 में की गई थी, इस बैंक का नाम  एसबीआई भारतीय स्टेट बैंक है, लेकिन 1806 में इस बैंक का नाम  कोलकाता बैंक था, और बाद में इसका नाम बदलकर  बैंक ऑफ़ बंगाल  कर दिया गया था।

सन 1840 में  बैंक ऑफ बम्बई ओर  बैंक ऑफ़ मद्रास को  तीनों बैंकों का विलय आपस में कर दिया गया था 1921 में इंपीरियल बैंक  इनका नाम रखा गया। जब भारत स्वतंत्र हुआ 1955 में इस बैंक का नाम  भारतीय  स्टेट बैंक रख दिया गया था।

इस प्रकार  भारत का सबसे पुराना बैंक भारतीय स्टेट बैंक है।

18 वीं सदी में  भारत में अन्य बैंक भी स्थापित हुए थे, बहुत से लोगों का मानना है कि भारत की सबसे पुरानी बैंक की स्थापना लगभग 1839 को हुई,  इस बैंक का नाम यूनियन बैंक रखा गया था और इसकी स्थापना कोलकाता के कुछ व्यापारियों ने की थी, क्योंकि उस समय कोलकाता का बंदरगाह व्यापार के लिए प्रसिद्ध था और इस बैंक की स्थापना  ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा की गई थी।

यूनियन बैंक 1848 तक ही चल पाया।  इसके बाद एक और बैंक की स्थापना होती है, जिसका नाम  बैंक ऑफ अपर  इंडिया रखा गया था, इसकी स्थापना 1863 सेट में की गई थी।

1865 में इलाहाबाद बैंक की स्थापना की गई। इलाहाबाद बैंक को आज  इंडियन बैंक के संग  शामिल कर दिया गया है।


भारत का सबसे पुराना निजी बैंक कौन सा है?


भारत का सबसे पुराना निजी बैंक की बात करें तो इसकी स्थापना 1865 में की गई थी,  और इसका नाम  इलाहाबाद बैंक है। इलाहाबाद बैंक ही भारत का सबसे पुराना निजी बैंक है।  वर्तमान समय में इलाहाबाद बैंक को इंडियन बैंक में मिला दिया गया है। अब इलाहाबाद बैंक  इंडियन बैंक के नाम से जाना जाता है।


भारत की सबसे बड़ी प्राइवेट बैंक bank kon sa है?

अगर भारत के सबसे बड़े प्राइवेट बैंक की बात करें तो  icici बैंक को  भारत का सबसे बड़ा प्राइवेट बैंक माना जाता है क्योंकि यह अपने ग्राहकों को अच्छी सर्विस देता है, लेकिन hdfc भी  भारत का सबसे बड़ा प्राइवेट बैंक माना जाता।


भारत का नंबर वन बैंक कौन सा है?

दोस्तों अगर आप भारत के नंबर वन बैंक के बारे में जानना चाहते हैं तो  आपकी जानकारी के लिए बता दे भारत का नंबर वन बैंक भारतीय स्टेट बैंक है, इसका नंबर वन होने का कारण  यह बैंक भारत का सबसे पुराना बैंक है और यह एक सरकारी बैंक है।


FAQ


भारत का सबसे पुराना बैंक कौन सा है?

भारतीय स्टेट बैंक।


भारत का सबसे  पुराना निजी बैंक कौन सा है?

इलाहाबाद बैंक  अब इलाहाबाद बैंक को  इंडियन बैंक के नाम से जाना जाता है।


भारत का सबसे बड़ा प्राइवेट bank कौन सा है?

ICC और HDFC


भारत का नंबर वन बैंक कौन सा है?

एसबीआई।


विश्व का सबसे पुराना बैंक कहां है?

इटली में।


विश्व की सबसे पुराना बैंक का नाम क्या है?

banca monte dei paschi di siena  और यह बैंक अभी तक इटली में काम कर रहा है।


अंतिम शब्द

दोस्तों इस आर्टिकल में आपको, भारत की सबसे पुराना बैंक,  भारत का सबसे पुराना निजी बैंक, भारत का  सबसे बड़ा प्राइवेट बैंक  और भारत का नंबर वन बैंक  यह जानकारी आपको इस आर्टिकल में दी गई है।

दोस्तों आशा करते हैं कि आर्टिकल आपके बहुत काम आया होगा और आपको सारी जानकारी प्राप्त हो गई होंगी।