google-site-verification: google172ddca856460d19.html Bitcoin kya hai

Bitcoin kya hai

 बिटकॉइन Bitcoin

Bitcoin
बिटकॉइन


बिटकॉइन एक डिजिटल क्रिप्टो करेंसी है।  बिटकॉइन  को 2009 में लांच किया गया है।  यह एक ऐसी कैरेंसी है जिसका डिजिटल रूप से  भुगतान किया जाता है  यह एक विकेंद्रीकृत  मुद्रा है।  यह विश्व के bank के द्वारा  संचालित नहीं होती है।  कंप्यूटर नेटवर्किंग आधारित भुगतान के लिए  इसका निर्माण किया गया है।

 बिटकॉइन का चिन्ह B है और इसके निर्माता satoshi nakamoto है।

बिटकॉइन क्रिप्टो करेंसी का ही भाग है  जिसका प्रयोग  डिजिटल रूप से तो होता ही है लेकिन यह करेंसी भी  पर्सन to पर्सन  पर आधारित है।  बिटकॉइन पर कंट्रोल  व्यक्तियों द्वारा ही होता है क्योंकि ना तो उसका कोई संगठन है और ना ही इसका कोई विश्व स्तर पर  बैंक

बिटकॉइन इन वर्चुअल  मुद्रा है।  वर्चुअल मुद्रा का मतलब होता है  जिसका कोई भौतिक रूप नहीं होता है।

जो एक ऐसी कैरेंसी है  जिसे ना हम तो देख सकते हैं ना ही हम  इसे छू सकते हैं डिजिटल रूप द्वारा  संचालित होती है।  जैसे प्राचीन काल में  वस्तु विनिमय चलता था। व्यक्ति अपनी  इच्छित  वस्तु को ले लेता था और बदले में उसे  उसकी  इच्छित वस्तु  दे  देता था।  लेकिन धीरे-धीरे  मुद्रा का प्रचलन हुआ और फिर मुद्रा में कानूनी रूप धारण कर लिया और उसी प्रकार आज हमारे सामने डिजिटल मुद्रा या  वर्चुअल  मुद्रा  उपलब्ध है।  अगर किसी भी व्यक्ति के पास बिटकॉइन है। तो वह  उससे सम्मान खरीद सकता है।


Bitcoin डिजिटल करेंसी


2021 में  बिटकॉइन इतना प्रसिद्ध हो गया है।  जिन लोगों ने बिटकॉइन को 2009 में  खरीदा था  आज वह लोग उसे  अच्छे दाम पर  बेच रहे हैं।

जब हम डेबिट कार्ड क्रेडिट कार्ड से भुगतान करते हैं हमें  दो से या तीन परसेंट  फीस पड़ती है  लेकिन जब हम बिटकॉइन से भुगतान करते हैं  तो किसी भी प्रकार  की फीस नहीं देनी पड़ती। इस  वजह  से भी  बिटकॉइन प्रसिद्ध होते जा रहा है। बिटकॉइन पूर्णता सुरक्षित है  इसमें किसी भी प्रकार का  फ्रॉड नहीं होता है  क्योंकि  यह व्यक्ति पर निर्भर है और इसमें डिजिटल  सिग्नेचर किए जाते हैं। इसलिए भी यह  लोकप्रिय होती जा रही है।

बिटकॉइन में अन्य क्रेडिट कार्ड की तरह  कोई Limit नहीं है और ना  आपकों पैसे कैश लेकर घूमने है आप  इसका प्रयोग दुनिया के किसी भी कोने में किया जा सकता है।

ऐसी बहुत सारी वेबसाइट हैं  जो bitcoinको  स्वीकार कर रही है।  बिटकॉइन से किसी भी प्रकार का पेमेंट किया जा सकता है  जैसे रेलवे का टिकट,  दुकान में लिए गए सामान का पेमेंट, हवाई जहाज का टिकट, आदि।

हर साल दुनिया में  पैसे उधर से इधर जाते हैं  पैसे लेने और देने के लिए  बैंक  और कई कंपनियों का सहारा लेना पड़ता है  जिसके लिए हमें  अतिरिक्त भुगतान करना पड़ता है।  लेकिन बिटकॉइन में  किसी पर भी निर्भर नहीं होना पड़ता है और ना ही इसमें किसी भी प्रकार  की फीस लगती है।  आज दुनिया में बहुत से ज्यादा ऐसे लोग हैं  जिनके पास बैंक सुविधा तो नहीं है लेकिन उनके पास इंटरनेट और सेल फोन पक्का हैं लेकिन इंटरनेट के माध्यम से हम कोई व्यापार तो नहीं कर सकते हैं।  जबसे बिटकॉइन आया है  तब से इंटरनेट के द्वारा  व्यापार कर सकते हैं।  बिटकॉइन में ना तो किसी व्यक्ति विशेष का अधिकार है और ना ही किसी सरकार का।  बिटकॉइन को ऐसे लोगों से शक्ति प्राप्त होती है जिनके पास कंप्यूटर है जो इंटरनेट के माध्यम से  विनिमय को पूरी तरह से सुरक्षित करते हैं और उसकी पूरी जांच-पड़ताल जांच करते है।

Facebook se paise kaise kamaye

YouTube se paise kaise kamaye



बिटकॉइन bitcoin का अर्थ क्या है

आम शब्दों में बिटकॉइन माइनिंग की बात करें तो इसका अर्थ जब खुदाई  में खनिज निकलते हैं जैसे सोना, कोयला आदि।  बिटकॉइन का कोई भौतिक स्वरूप तो नहीं है इसमें maining का अर्थ  ऐसे bitcoin को बनाना  होता है  जिसकी संभावना कंप्यूटर पर ही है।

Bitcoin माइनिंग का अर्थ उस प्रोसेस से है  जिसमें कंप्यूटर  पावर का प्रयोग करके ट्रांजैक्शन प्रोसेस की जाती है। यह एक bit कंप्यूटर की  तरह काम करता है  माइनर वे लोग होते हैं  जो  माइनिंग का  वर्क करते हैं  मतलब कि  जो बिटकॉइन बनाते हैं।  एक अकेला इंसान  माइनिंग को पूरी तरह   कंट्रोल नहीं कर सकता है। बिटकॉइन माइनिंग के लिए सुपर कंप्यूटर की जरूरत पड़ती है।  माइनिंग में वे लोग ही काम कर सकते हैं  जिनके पास  सुपर कंप्यूटर  और गणना करने की  उचित क्षमता होनी चाहिए ऐसा ना होने पर  माइनरस  इलेक्ट्रिसिटी  और समय बर्बाद करेगा।

बिटकॉइन माइनिंग


बिटकॉइन bitcoin माइनिंग का प्रमुख उद्देश्य 

1  बिटकॉइन नोट को   सुरक्षित रखना।

2  नेटवर्क को  छेड़छाड़ से दूर रखना।

बिटकॉइन को खरीदने और बेचने के लिए  बिटकॉइन के एड्रेस का  प्रयोग किया जाता है। दुनिया का कोई भी व्यक्ति ब्लाकचैन  अपना खाता बनाकर बिटकॉइन को खरीद सकता है और उसे आसानी से बेच भी सकता है।


बिटकॉइन का  मूल्य

किसी भी वस्तु का  मूल्य उसकी मांग और पर निर्भर करता है उसी प्रकार बिटकॉइन का भी मूल्य मांग और पूर्ति पर पूर्णता निर्भर है।  2009 में Bitcoin लांच हुआ था  तब इसकी कीमत अमेरिकन  एक डॉलर  से भी कम थी।  आज इसकी कीमत 41,000हजार से ऊपर है क्योंकि बिटकॉइन की डिमांड  तेजी से बढ़ रही है। क्योंकि बिटकॉइन पर लोगों का विश्वास बन गया है।  बिटकॉइन पूरी तरह से सुरक्षित से  सुरक्षित भी है।


भारत में बिटकॉइन

24 दिसंबर 2013 में  भारतीय रिजर्व बैंक ने  बिटकॉइन वर्चुअल डिजिटल मुद्रा के लिए  एक प्रेस प्रकाशन  किया  और कहा गया कि  भारत में क्रिप्टो करेंसी  या बिटकॉइन को  आधिकारिक अनुमति नहीं दी गई है  और कहा था कि  इसका लेनदेन  जोखिम भरा है।  दो हजार अट्ठारह में  भारतीय रिजर्व बैंक ने क्रिप्टो करेंसी बिटकॉइन Bitcoin पर प्रतिबंध लगा दिया लेकिन 2020 में उच्चतम न्यायालय ने बिटकॉइन से प्रतिबंध हटा दिया लेकिन  अभी तक भारत में भी  बिटकॉइन को  आधिकारिक मान्यता नहीं दी गई है।  जब तक  भारतीय सरकार बिटकॉइन को मान्यता नहीं देती तब तक भारत के लोगो को बिटकॉइन में  इन्वेस्ट नहीं करना चाहिए।


बिटकॉइन को कहां से खरीदें

अगर आप Bitcoin को खरीदना चाहते हैं और उससे अंतरराष्ट्रीय व्यापार करना चाहते हैं तो आप बिटकॉइन को  किसी भी प्लेटफार्म या वेबसाइट या एप्लीकेशन से खरीद सकते हैं।  प्ले स्टोर में बहुत सारे ऐसे ऐप है  जिस  पर बिटकॉइन को बाय ओर सेल किया जा सकता है  और बहुत सारी ऐसी वेबसाइट भी है।

बिटकॉइन को  खरीदने के लिए  आपको अपने अकाउंट पर अकाउंट पर इंडियन रुपीस से  यूएसडी पर चेंज करना होगा  उसके बाद ही भारतीय बिटकॉइन को खरीद सकते हैं।  कुबेर, बिटकॉइन वॉलेट, कॉइन आदि ऐसे ऐप है जहां से आप बिटकॉइन को आराम से खरीद सकते हैं और वहां पर आप बिटकॉइन को  सेल भी  कर सकते हैं।

2021 में  बिटकॉइन को खरीदना बहुत आसान हो गया है।



बिटकॉइन के क्या-क्या फायदे हैं

Bitcoin क्रिप्टो करेंसी के  बहुत ज्यादा फायदे हैं  जैसे

1  यह एक डिजिटल करेंसी है  जिसके द्वारा दुनिया के किसी भी कोने में पैसे  भेजे जा सकते हैं।

2  बिटकॉइन में किसी भी प्रकार की   ब्लैक मनी नहीं की जा सकती क्योंकि  इसमें एक व्यक्ति के द्वारा  दूसरे व्यक्ति को  भेजे जाते हैं और जिसमें डिजिटल सिगनेचर  का प्रयोग होता है।

3  बिटकॉइन ब्लॉकचेन पर आधारित है जिसको  हैक  कर पाना बहुत कठिन है।

4  बिटकॉइन के द्वारा इंटरनेट के माध्यम से व्यापार किया जा सकता है।

5  बिटकॉइन से लोग  अधिक से अधिक पैसा कमा रहे हैं।

6  बिटकॉइन पर  संस्था का नियंत्रण नहीं है ओर  ना ही यह  एक जगह केंद्रीकृत है।  यह पूरी तरह से विकेंद्रीकृत मुद्रा है।

7   बिटकॉइन में बहुत कम चांसेस  फ्रॉड होने के हैं।

8  बिटकॉइन  के द्वारा  दुनिया में किसी भी बिना फीस चार्ज किए हुए पैसे सेंड कर सकते हैं।

Instagram se paise kaise kamaye 2021


बिटकॉइन से होने वाली हानियां

बहुत से लोगों का मानना है कि  बिटकॉइन से  हानियां भी होती है जैसे

1  बिटकॉइन में बहुत ज्यादा  इलेक्ट्रिकसिटी  लगती है।

2   बिटकॉइन पर  किसी का भी नियंत्रण नहीं है।

3  बिटकॉइन का कोई  फ्यूचर नहीं है।

4  ओसीडी सुने बिटकॉइन को मान्यता नहीं दी है।

5  बिटकॉइन को खरीदने के लिए इंटरनेट की अधिक जानकारी होना बहुत आवश्यक है।

6  बिटकॉइन ए ग्राफ ऊपर नीचे होता रहता है  जिसमें अधिक लोगों को  हानि होती है।

7 भारतीय लोगों को Bitcoin  में  खरीदने में तब तक हानि है  जब तक  भारत की सरकार और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया  बिटकॉइन क्रिप्टो करेंसी को मान्यता  नहीं देता।  अगर बिटकॉइन को  भारत में मान्यता नहीं मिली तो  बहुत सारे लोगों को  हानि हो सकती है। इसलिए भारतीय लोगों को इसमें  सोच समझकर ही  इन्वेस्ट करना चाहिए।

आप लोग इतने डिजिटल हो गए हैं कि  डिजिटल मुद्रा के माध्यम से  डिजिटल  पेंटिंग एनएफटी के  जरिए   खरीद रहे हैं।  बिटकॉइन तो लोगों के लिए पैसे कमाने का साधन भी बन गया है।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ